मिस्ट्री: क्यों टूटी थी सलीम-जावेद की जोड़ी? वजह जानकर…

0
28
salimkhan-and-javedakhtar-split-story

हिंदी फिल्म जगत में 80 के दशक में सुपरस्टार्स से भी ज्यादा कोई फेमस था तो वह थी स्क्रिप्टराइटर सलीम-जावेद की जोड़ी। इस जोड़ी ने न जाने कितने ही एक्टर्स को सफलता के शिखर पर पहुंचा दिया था। इतना ही नहीं ये पहली जोड़ी हुई जिन्‍होंने फिल्‍म पोस्‍टर्स और स्‍क्रीन पर भी अपना नाम डलवाया। इनसे पहले स्क्रिप्टराइटर्स के नाम स्क्रीन पर नहीं आते थे। लेकिन 15 सालों तक एक साथ काम करने के बाद सलीम-जावेद की जोड़ी क्यों टूट गई ये हमेशा से ही मिस्ट्री रही है।

‘दीवार’, ‘जंजीर’, ‘डॉन’ जैसी कई सुपरहिट फिल्मों की स्क्रिप्ट लिख चुके सलीम-जावेद की जोड़ी को एक साथ 6 फिल्मफेयर अवार्ड्स मिले थे। हैरानी की बात तो ये है कि सलीम खान इंदौर से मुंबई हीरो बनने के लिए आए थे। फिल्म ‘सरहदी लुटेरा’ में वह हीरो की भूमिका में नजर भी आए थे। यहीं उनकी मुलाकात जावेद अख्तर से हुई जो उस फिल्म को असिस्ट कर रहे थे।

सलीम-जावेद की जोड़ीयहीं से इनकी दोस्ती की शुरूआत हुई और हिंदी सिनेमा के इतिहास में कभी ना भूलाई जाने वाली सलीम-जावेद की जोड़ी का भी जन्म हुआ। दोनों अपनी पार्टनरशिप में करीब 15 साल तक एक दूसरे के साथ काम किया। इस सलीम-जावेद की जोड़ी ने एक से बढ़कर एक फिल्में दीं जिनमें ‘सीता और गीता’, ‘हाथी मेरे साथी’,‘हाथ की सफाई’, ‘शोले’, ‘क्रांति’, ‘त्रिशूल’, ‘यादों की बारात’, ‘जमाना’, ‘मिस्टर इंडिया’ जैसे नाम शामिल हैं। साल 1987 में रिलीज हुई फिल्म ‘मिस्‍टर इंडिया’ सलीम-जावेद की आखिरी फिल्म थी।

सलीम-जावेद की जोड़ीइसके बाद ये जोड़ी खत्म हो गई। लेकिन दोनों ने कभी एक-दूसरे पर कीचड़ नहीं उछाला और ना ही इस बारे में खुलकर बात की। बाद में सलीम खान के बेटे सलमान खान ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि, जावेद अख्तर साहब फिल्मों के लिए गीत लिखना चाहते थे इसलिए दोनों ने आपसी सहमती से इस जोड़ी को खत्म करने का फैसला लिया। यही वजह है कि सलीम खान की फैमिली और जावेद अख्तर की फैमिली आज भी एक साथ पहले की तरह रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here